VPN क्या है और यह कैसे काम करता है

Vpn का फुल फॉर्म "virtual private network" है। VPN एक प्राइवेट सेक्यूर नेटवर्क है जिसका उपयोग लोकेशन और नेटवर्क IP hide करने में किया जाता है।
VPN एक ऐसा प्राइवेट नेटवर्क होता है जो यूजर को दुनिया मे कही भी
कभी भी इस नेटवर्क को एक्सेस करने की अनुमति देता है।

इसके लिए vpn कंपनी की तरफ से हमे ip address और लॉगिन यूजर नाम पासवर्ड दिया जाता है।इसकी मदद से हम कही भी और कभी भी इस नेटवर्क का उपयोग कर सकते हैं।
VPN कैसे काम करता है:-
(i) अगर हम vpn client है तो vpn सबसे पहले हमारे नेटवर्क और vpn सर्वर के मध्य एक  टनल बनाता है जो कि पूरी तरह से encrypted या पूरी तरह सुरक्षित होता है।हमारे नेटवर्क औऱ vpn सर्वर के बीच टनल द्वारा हो रहे कम्युनिकेशन को और कोई नहीं देख सकता।
(ii) जब हम vpn क्लाइंट के रूप में गूगल पर कुछ सर्च करते है तो वह सर्च पहले vpn सर्वर पर जाता है इसके बाद vpn सर्वर उस सर्च को गूगल पर सर्च करता है ।
Example- अगर हमने गूगल पर सर्च किया कि "vpn क्या है" तो यह सर्च पहले टनल के माध्यम से vpn सर्वर पर जायगी इसके बाद vpn सर्वर गूगल पर सर्च करेगा "vpn क्या है"।
अब vpn सर्वर इस सर्च का रिजल्ट पहले vpn सर्वर को पहुंचाएगा इसके बाद सर्वर उस रिजल्ट को हमको दिखायेगा 
इस बजह से हमारी इनफार्मेशन हाईड हो जाती है।
VPN उपयोग करने के फायदे:-
इसकी मदद से हम उन वेबसाइट को भी एक्सेस कर सकते है जो हमारे यहां बैन होती है।
जैसे कि- आपको पता होगा बहुत सी मूवी वेबसाइट इंडिया में बैन है इनको हम एक्सेस नही कर सकते अगर हम vpn यूज़ करते है तो हम इन वेबसाइट को यूज़ कर सकते है।
● यदि हम ऑनलाइन ट्रांजेक्शन, नेट बैंकिंग आदि का उपयोग करते है तो ऐसे में सिक्योरिटी के हिसाब से vpn सबसे secure है क्योंकि जब हम vpn का यूज़ करके ऑनलाइन ट्रांजेक्शन करते है तो vpn दोनो नेटवर्क के मध्य tunnel बना देता है जिसे कोई भी ब्रेक नही कर सकता।
● अगर हम हैंकिंग करते है तो हम vpn की मदद से अपनी वास्तविक लोकेशन और नेटवर्क ip address को हाईड (छिपा) सकते हैं जिससे किसी को पता नही चलेगा कि कौन और कहां से हैकिंग कर रहा है।जितने भी प्रॉफेशनल हैकर है वो VPN का यूज़ करते है।

Post a Comment

0 Comments